b2

ad

Sunday, 23 July 2017

बादल बरस रहे -मेरी शायरी

Baadal baras rahe hai baahar,
Aur yaaden baras rahee hai andar

बादल बरस रहे है बाहर,
और यादें बरस रही है अंदर

ना मेरी याद आती है-मेरी शायरी

Na meree yaad aatee hai, na main yaad aatee hu,
Tumhe aur tumhaaree baaton ko main khoob jaanatee hoon. 

ना मेरी याद आती है, ना मैं याद आती हु,
तुम्हे और तुम्हारी बातों को मैं खूब जानती हूं

Thursday, 20 July 2017

बादल ये यूँही नही -मेरी शायरी

Badal ye yunhi nhi baras pde,
Meri aankho mai ruke aansu ye dekh nhi ske...

बादल ये यूँही नही बरस पड़े,

मेरी आँखों मे रूके आँसू ये देख नही सके...

Wednesday, 19 July 2017

याद तुझे हर पल करते -मेरी शायरी

Yaad tujeh har pal karte hai, 
Bayaa  kre to alfaz kum ho

याद तुझे हर पल करते है,
बयाँ करे तो अल्फ़ाज़ कम हो। 

Sunday, 9 July 2017

दिल खोल नही पाते आपके-मेरी शायरी

Dil khol nhi paate aapke saamne ab,
Yaado ka tufaan dil mai hi chhupae baithe hai...

दिल खोल नही पाते आपके सामने अब,
यादों का तूफान दिल में ही छुपाए बैठे है...।


Wednesday, 5 July 2017

मेरी चोट ने ही तुझे इतना बदल-मेरी शायरी


Meri chot ne hy tujeh itna badal diya,
Barna tum itne begane na the,
Khohish nhi ki tuje aur tadpaye hum,
Bs dil kaboo mei aa jaye to hum bhi chal denge.

मेरी चोट ने ही तुझे इतना बदल दिया है,
वरना तुम इतने बेगाने न थे,
ख़्वाहिश नही की तुझे ओर तड़पाये हम,
बस दिल क़ाबू में आ जाये तो हम भी चल देंगे

इतनी भी क्या बेरुखी हमसे -मेरी शायरी

Itni bhi kya  berukhi humse ki ab baat bhi nhi karte aap????.
Doorr to ho hy gye ho tum mujse , 
Janbooj kr yu sboot  na diya kr....😞

इतनी भी क्या बेरुखी हमसे की अब बात भी नही करते हो आप????
दूर तो हो ही गये हो तुम मुझसे,
जानबूझ कर यूँ सबूत न दिया कर...😞

बादल बरस रहे -मेरी शायरी

Baadal baras rahe hai baahar, Aur yaaden baras rahee hai andar बादल बरस रहे है बाहर, और यादें बरस रही है अंदर