Saturday, 10 June 2017

मेरे सपनों को वो बयाँ करने -मेरी शायरी

Mere sapno ko wo bayaan krne lage hai...
Khushiyo ka wo mujhe paigaam dene lage hai..
Zindgi bs unke pehlu me bitani hai mujhe,
Is kadar wo mujhe apna banane lage hai...

मेरे सपनों को वो बयाँ करने लगे है,
खुशियों का वो मुझे पैगाम देने लगे है...
ज़िन्दगी बस उनके पहलू में बितानी है मुझे,
इस कदर वो मुझे अपना बनाने लगे है...

No comments:

Post a Comment

कुछ दोस्त खफ़ा हो गए - मेरी शायरी

Kuchh dost khafa ho gae hai, Lagata hai hamaaree sohabat unhen ab raas nahee aatee. Na karenge  kabhee koee shikava tumase, Shart ...