ads

Wednesday, 5 July 2017

इतनी भी क्या बेरुखी हमसे -मेरी शायरी

Itni bhi kya  berukhi humse ki ab baat bhi nhi karte aap????.
Doorr to ho hy gye ho tum mujse , 
Janbooj kr yu sboot  na diya kr....😞

इतनी भी क्या बेरुखी हमसे की अब बात भी नही करते हो आप????
दूर तो हो ही गये हो तुम मुझसे,
जानबूझ कर यूँ सबूत न दिया कर...😞

No comments:

Post a Comment